सार्वजनिक प्याऊ भरने हेतु विशेष टेंकरों की व्यवस्था

देवास। ग्रीष्मकाल में नागरिकों को प्याऊ के माध्यम से प्यास बुझाने हेतु शहर में विभिन्न संस्थाओं, नागरिकों द्वारा स्थापित किए गए 22 सार्वजनिक प्याऊओं पर पानी भरने की व्यवस्था नगर निगम द्वारा प्रतिदिन दोनों समय निर्धारित की जाए। प्रात:काल में प्रात: 8 से 10 बजे तथा शाम 5.30 से 7 बजे तक प्याऊ में पानी भरे जाने के निर्देश महापौर सुभाष शर्मा द्वारा निगम के पानी टेंकरों से जल वितरण व्यवस्था के कर्मचारियों को दिए गए। बैठक में महापौर ने सख्त निर्देश दिए कि अगर कोई टेंकर चालक या संबंधित कर्मचारी टेंकर से पानी बेचते पाया जाता है तो उसके विरूद्ध कार्यवाही की जावेगी।

महापौर श्री शर्मा द्वारा शहर की जलवितरण समस्या की गहन समीक्षा आयुक्त, उपायुक्त, कार्यपालन यंत्री, प्रजा कार्य एवं जल प्रदाय के साथ की गई। बैठक में उपस्थित समस्त तकनीकी यंत्रियों को भी सख्त निर्देश जारी किए कि वे जल वितरण व्यवस्था सुचारू बनाए रखने हेतु अपने अपने क्षेत्रों में सतत रूप से भ्रमण कर जल वितरण में लगे वाल्व मेनों , चाबी मेनो, पम्प आपरेटरों पर प्रभावी नियंत्रण रखें।

बैठक में महापौर ने निर्देश दिए कि जिन क्षेत्रों में पाईप लाईन नहीं है तथा जहां पर जल संकट रहता है वहां पर पानी टेंकरों से जल वितरण की सुचारू व्यवस्था बनाए। बैठक में महापौर श्री शर्मा, आयुक्त हिमांशुसिंह ने सार्वजनिक प्याऊओ पर पानी भरने की व्यवस्था में विशेष टेंकरों का निर्धारण कर उन्हें सिर्फ प्याऊ में पानी भरने के उपयोग में ही लाने के निर्देश दिए । इस हेतु पानी टेंकर पर सिर्फ प्याऊ भरने के टेंकर का फ्लेक्स लगाने के निर्देश दिए गए। दो टेंकरों की व्यवस्था में टेंकर चालको को प्याऊ की सूची भी दी जाने के निर्देश दिए।

महापौर ने कहा कि जिन प्याऊ पर 5 से 10 मटके होंगे वहीं पर निगम का टेंकर पानी भरेगा। निगम के पानी टेंकर प्याऊ के अलावा किसी और स्थल या व्यक्ति विशेष के यहां पानी भरते पाये जाने की शिकायत मिलने तथा पाये जाने पर टेंकर चालक पर निलंबन या सेवा बर्खास्तगी की भी कार्यवाही प्रस्तावित की जावेगी।

महापौर ने कहा कि बीच शहर में शादियों एवं सामूहिक सम्मेलनों में पानी टेंकरों की व्यवस्था के कारण सार्वजनिक वितरण प्याऊ भरने में कुछ असमानता हुई जिसे अतिशीघ्र सुधारा जाने के सख्त निर्देश जल वितरण प्रभारी को बैठक में दिए गए। बीराखेडी में पेयजल पाईप लाईन डाली जा चुकी है जिसका टेस्टिंग चल रहा है। महापौर द्वारा 7 दिवस में टेस्टिंग के दौरान क्षेत्रवासियों को पानी वितरण करने तथा 7 दिवस पश्चात क्षेत्रवासियों को नल संयोजन की कार्यवाही करने के निर्देश संबंधितों को दिए गए ।

बैठक में महापौर ने कहा कि पानी की पर्याप्त व्यवस्था के बावजूद भी क्षेत्र के चाबी मेनों, पम्प आपरेटरों द्वारा क्षेत्र में पानी कम मात्रा में पानी का वितरण समय कम कर कृत्रिम जल संकट पैदा करते है ऐसे कर्मचारियों पर क्षेत्रीय यंत्री मानीटरिंग करें तथा कार्यवाही प्रस्तावित करें। बैठक में निगम मेयर इन काउंसिल सदस्य अर्जुन चौधरी, निगम उपायुक्त परमेश जलोटे, कार्यपालन यंत्री सुरेशचंद्र व्यास, आसीम शेख, सहायक यंत्री एस पी आचार्य, उपयंत्री आर के शर्मा, विजय जाधव, जितेन्द्र सिसोदिया, सूर्यप्रकाश तिवारी आदि उपस्थित रहे।

© Copyright 2018. All Rights Reserved.